Scrollup

प्रेस रिलीज: 18 अक्टूबर 2018

भाजपा-कांग्रेस में सत्ता पाने की होड़, इसीलिए हो रही टिकट बंटवारे में देरी: आलोक अग्रवाल

आप के प्रदेश अध्यक्ष ने दोनों दलों के बीच टिकट बंटवारे की खींचतान पर ली चुटकी

कहा- प्रत्याशियों की खामियों से जनता न हो पाए रूबरू इसके लिए भी की जा रही देरी

भोपाल, 18 अक्टूबर। आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक अग्रवाल ने भाजपा-कांग्रेस के बीच टिकट बंटवारे को लेकर मची खींचतान पर चुटकी लेते हुए कहा कि ये सत्ता के लालची लोग हैं, हर व्यक्ति खुद ही विधायक बनना चाहता है, इसलिए प्रत्याशी तय करने में पशोपेश में हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा के नेता महज सत्ता पाने की होड़ में शामिल हैं, और इसीलिए चुनाव लड़ते हैं। आम जनता की दुख-तकलीफों का इन्हें न तो कोई ज्ञान है, न ही उन्हें दूर करने की नीयत और इच्छाशक्ति इनके पास है।

उन्होंने कहा कि एकमात्र आम आदमी पार्टी ही प्रदेश में ऐसी पार्टी है, जो व्यवस्था परिवर्तन की लड़ाई लड़ रही है। इसके लिए हमने लगातार प्रत्याशियों की घोषणा की है, और अब तक 148 प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं, इसके बावजूद किसी तरह का कोई विरोध सामने नहीं आया है। क्योंकि जो लोग बदलाव की लड़ाई लड़ते हैं, उनमें एकता होती है और उनके लिए व्यक्ति नहीं, बल्कि उद्देश्य मायने रखता है।

उन्होंने कहा कि अंतिम समय में सीटों की घोषणा करने से साफ है कि कांग्रेस और भाजपा के भीतर गुटबाजी जबर्दस्त है और इसी वजह से वह पहले से टिकट की घोषणा नहीं कर पा रही हैं। उन्होंने आशंका जताई कि चुनाव के नामांकन की तिथि के नजदीक घोषणा करने के बाद प्रत्याशी को ठीक तरह से जनता जान भी नहीं पाएगी। उन्होंने कहा कि यह देरी एक तरफ जनता को भरमाने के लिए है, वहीं दूसरी ओर अपने प्रत्याशियों की खामियां जनता के सामने जाहिर न हो सकें, इसके लिए भी देर से घोषणा की जा रही है। इसके बाद किसी तरह से पैसे के बल पर लोगों के वोटों को प्रभावित करने की कोशिश की जाएगी। इस पर चुनाव आयोग के साथ मिलकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता नजर रखेंगे। उन्होंने कहा कि इस बार जनता ने व्यवस्था परिवर्तन के लिए कमर कस ली है और भाजपा-कांग्रेस के हर प्रलोभन का जवाब आम आदमी मतदान के रूप में देंगे।

मीडिया सेल
आम आदमी पार्टी, मध्य प्रदेश

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

sudhir